Amazon Seller Kaise Bane | Amazon पर सामान कैसे बेचें?

अमेज़न पर अपना सामान कैसे बेचे

दोस्तो, जैसे कि आपको पता है कि ऑनलाइन शौप्पिंग का काम दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. लोग ऑफलाइन सामान खरीदने के साथ साथ उस सामान को ऑनलाइन शौपिंग platforms पर एक बार ज़रूर चेक करते हैं और आप भी इन ऑनलाइन शौपिंग platforms पर सेलर बन के इस बिज़नेस से पैसे कमा सकते हैं. इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि amazon seller kaise bane.

Amazon par business kaise shuru kare

वैसे तो बहुत सारे अच्छे ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म्स हैं जैसे flipkart, snapdel, amazon. फ्लिप्कार्ट का सेलर कैसे बनें, इस पर हमने एक पोस्ट में विस्तार से बताया है, आप उस पोस्ट को पढ़ कर जान सकते हैं.

यह भी पढ़ें: फ्लिप्कार्ट का सेलर कैसे बनें? फ्लिप्कार्ट पर अपना सामान कैसे बेचें? 

लेकिन इस पोस्ट में हम आपको अमेज़न का सेलर बनने के बारे में रजिस्ट्रेशन से लेकर प्रोडक्ट डिलीवर और पेमेंट तक पूरी जानकारी देंगे.

Amazon क्या है?

आप जब भी किसी प्लेटफार्म के साथ जुड़ना चाहते हो तो उस प्लेटफार्म की vision और guidelines के बारे में पहले जानना ज़रुरी होता है. अमेज़न बड़े-बड़े Ecommerce platforms में से एक है. अमेज़न की स्थापना 5 जुलाई, 1994 में Jeff Bezos ने की थी.

अमेज़न एक customer centric कंपनी है, अमेज़न का विज़न है कस्टमर को बेस्ट प्राइस, उत्पादों की विस्तृत श्रृंखला और सुविधा प्रदान करना. तो आपको भी इस विज़न के साथ जुड़ना पड़ेगा.

कोन-कोन से documents है ज़रुरी

1. GST  

ऑनलाइन selling के लिए GST बहुत ज़रुरी है. यह लगभग सरे प्रोडक्ट्स के लिए ज़रुरी होता है सिर्फ कुछ प्रोडक्ट्स को छोड़ कर. इसलिए आपके पास GST होना बहुत जरूरी है नहीं तो आप sell नहीं कर सकते.

2. PAN CARD

अगर आप कोई बिज़नेस करते हो तो आपका बिज़नेस PAN CARD लगेगा, नहीं तो आपका पर्सनल PAN CARD लगेगा.

3. बैंक अकाउंट   

आप सेविंग अकाउंट से भी ऑनलाइन selling का बिज़नेस कर सकते हो, लेकिन अगर आप करंट अकाउंट इस्तेमाल करते हो तो आगे चल कर आपको टैक्सेशन में मदद होगी.  इसलिए हो सके तो आप नया करंट अकाउंट खुलवा लें अपने ऑनलाइन selling बिज़नेस के लिए.

4. Signature     

आप एक वाइट पेपर पर sign करके अपलोड कर सकते हैं या ऑनलाइन sign भी कर सकते हैं.

Amazon सेलर रजिस्ट्रेशन

1. अमेज़न में सेलर रजिस्ट्रेशन करने के लिए सबसे पहले आप sellercentral.amazon.in पर जाईये. आपके सामने सेलर पोर्टल खुल जाएगा, ऊपर start selling पर क्लिक करें.

amazon seller kaise bane

2. उसके बाद अकाउंट बनाने वाला पेज खुलेगा, वहा create your amazon account पर क्लिक करिए.

amazon seller kaise bane

3. उसमें सबसे पहले आप अपना नाम डालिए, फिर अपना फोन नंबर, ईमेल आई डी और फिर  पासवर्ड. आप जो भी फोन नंबर डालोगे उसपर एक OTP आएगा, वो OTP यहाँ डालिए और आपका फोन नंबर वेरीफाई हो जाएगा. उसके बाद continue पर क्लिक करें.

amazon seller kaise bane

4. उसके बाद आपका अकाउंट बन जाएगा और आपको लॉग इन वाली स्क्रीन पर ले जाएगा. वहां आपको लॉग इन करना है.

5. उसके बाद आपको अपनी कंपनी की जानकरी भरनी है. सबसे पहले आपको वही कंपनी का नाम डालना है जो आपके GST certificate पर लिखा है और continue पर क्लिक करें.

amazon seller kaise bane

6. उसके बाद आपको अपने बिज़नेस के बारे में बताना है. Store name में अपना स्टोर नाम डालिए, product category में आप आपकी प्रोडक्ट की केटेगरी डालिए. फिर आपको अपना पिन कोड डालना है, अपना पूरा एड्रेस डालना है.

सब कुछ भरने के बाद continue पर क्लिक करिए.

amazon seller kaise bane

7. उसके बाद आता है कि आप किस तरह अपने प्रोडक्ट को शिप करना चाहते हैं. जिस में Fulfillment by Amazon (FBA), Amazon EasyShip और SelfShip का आप्शन होता है. इन सब में क्या अंतर होता है,  इन तीनों आप्शन के बारे में हमने आपको ऊपर बताया भी है.

amazon seller kaise bane

8. उसके बाद आपको अपनी टैक्स डिटेल्स डालनी है. इस में आप को GST नंबर डालना है, सेलर का नाम डालना है और PAN CARD नंबर भी डालना है. ये सब डिटेल्स डालने के बाद next पर क्लिक करिये.

amazon seller kaise bane

9. फिर जो फ्रॉम आएगा उसमें आप और भी प्रोडक्ट categories ऐड कर सकते हैं.

10. उसके बाद shipping fee details में जाएंगे तो आपको शिपिंग fee की डिटेल्स की जानकरी मिलेगी. वहां आप offer free shipping पर क्लिक करके फ्री शिपिंग भी दे सकते हैं. और set fee वाले बटन पर क्लिक करके अपनी शिपिंग कास्ट भी सेट कर सकते हैं.

amazon seller kaise bane

11. ये सब करने के बाद आपको अपने बैंक अकाउंट की डिटेल्स डालनी है. ध्यान रहे आप इन डिटेल्स को अच्छे  से चेक करके डालिए ता जो बाद में पेमेंट रिसीव करने में कोई दिक्कत ना आए.

12. फिर टैक्स डिटेल्स वाले फॉर्म में सेलर का नाम, GST नंबर और PAN CARD नंबर डालिए.

13. प्रोडक्ट टैक्स कोड में आप जिस भी केटेगरी में आप sell करना चाहते हैं,  उसका टैक्स कोड एन्टर करना होता है.

14. आखिर में आपको अपने डिजिटल signature अपलोड करना होता है, आप signature बॉक्स में अपने सिग्नेचर ड्रा भी कर सकते हैं और launch your business पर क्लिक करना है. इस तरह आपकी रजिस्ट्रेशन पूरी हो जाएगी.

अमेज़न सेलर approval

  • अमेज़न रजिस्ट्रेशन करने के बाद आप अमेज़न के सेलर नहीं बनते हैं. क्योंकि आपको पहले अप्रूवल लेना पड़ता है. अमेज़न पे केटेगरी अप्रूवल होता है, तो जब प्रोडक्ट लिस्टिंग करने जाते हो और आपकी केटेगरी restricted category है तो पहले आपको केटेगरी अप्रूवल लेना पड़ता है.
  • जैसे ब्यूटी प्रोडक्ट्स, फ़ूड आइटम्स, ग्रोसरी, तो अगर आप इन केटेगरी पे sell करना चाहते हैं तो आपको अमेज़न की तरफ से केटेगरी अप्रूवल लेना पड़ेगा.
  • अमेज़न पे कुछ restricted brands भी होते हैं, तो अगर आप restricted ब्रांड्स के प्रोडक्ट सेल करना चाहते हैं तो आपको ब्रांड से भी अप्रूवल लेना पड़ेगा.
  • अगर आपके पास कोई अपना ब्रांड है तो आपको उसके लिए भी अलग से अप्रूवल लेना पड़ता है.

अमेज़न प्रोडक्ट लिस्टिंग

अप्रूवल मिलने के बाद आपको प्रोडक्ट लिस्टिंग करना है. तो सबसे पहले आपको अपने प्रोडक्ट की तस्वीरें तैयार करनी हैं. तोआप खुद भी प्रोडक्ट की तस्वीरें ले कर के अपलोड कर सकते हो या आप किसी एजेंसी hire भी कर सकते हैं जो आपके लिए प्रोडक्ट की फोटोग्राफी करेंगे.

उसके बाद आपको अपने प्रोडक्ट के लिए कंटेंट बनाना है और आपके प्रोडक्ट का कंटेंट बहुत ही बढिया होना चाहिए. कंटेंट में आता है title, bullet points, description और keywords.

याद रहे keywords आपको SEO (search engine optimization) friendly डालना है.

Amazon प्रोडक्ट प्राइसिंग

इसके बाद प्रोडक्ट की प्राइसिंग करना होता है, इसमें बहुत से लोग यह गलती करते हैं कि या तो वो प्रोडक्ट की प्राइसिंग बहत ज्यादा रख देते हैं और या तो बहुत कम.

ये बात ठीक है की आपको अपने प्रतियोगी को फॉलो करना होता है लेकिन पहले आप अपने प्रोडक्ट का मूल्यांकन करना चाहिए और उतना ही प्राइस रखना चाहिए कि आपको घाटा ना हो.

अमेज़न प्रोडक्ट पैकिंग

आपको मार्किट प्लेस की पैकिंग मटेरियल भी खरीद के रखना है. क्योंकि जब आपको आर्डर आता है तो आपको पहले ही आर्डर से मार्किट प्लेस की पैकिंग मटेरियल में अपने प्रोडक्ट को पैक करके अपने कस्टमर को डिस्पैच करना होता है.

पैकिंग मटेरियल खरीदने के लिए आप amazon.in पर जाकर अपने प्रोडक्ट के साइज़ के हिसाब से पैकिंग मटेरियल खरीद सकते हो.

बिक्री शुरू करें और आर्डर प्राप्त करें

यह बात हमेशा याद रखिये कि हर नए सेलर को visibility पाने के लिए कुछ समय लगता है इसलिए ऑर्डर्स भी इतनी जल्दी नहीं बढ़ते.  तो अपने प्रोडक्ट की visibility बढ़ाने के लिए आप अपने प्रोडक्ट को FBA (Fulfillment by Amazon)  में यानि prime products में रख सकते हैं.

इससे आपके प्रोडक्ट्स पर एक prime टैग लग जाता है और इससे आपके प्रोडक्ट की visibility बढ़ जाती है. प्रोडक्ट्स की visibility बढ़ाने के लिए आप sponsored ADS भी चला सकते हैं.

इसके अलावा आप प्रोडक्ट लिस्टिंग करने के बाद आप अपने प्रोडक्ट्स के बारे में सोशल मीडिया पर भी लोगों को बता सकते हैं शेयर कर सकते हैं, इससे भी आपको काफी मदद मिलेगी.

प्रोडक्ट की डिलीवरी

प्रोडक्ट की डिलीवरी कोन करेगा और पेमेंट कब मिलेगा. प्रोडक्ट की डिलीवरी की बात करें तो अमेज़न पर आपको अलग अलग प्रकार की  fulfillment आप्शन मिलता है. तो एक नये सेलर के लिए तीन आप्शन होते हैं.

  1.  Easy Ship : इजी शिप आप्शन में अमेज़न वाले आपके होम एड्रेस पे आपका प्रोडक्ट लेने आते हैं और कस्टमर तक पहुंचाते हैं.
  2. FBA (Fulfillment by Amazon):  इस में आप अपना स्टॉक अमेज़न की warehouse में भेजते हैं और आर्डर processing का सारा काम अमेज़न वाले करते हैं.
  3. SelfShip: इस में आप अपना प्रोडक्ट खुद कस्टमर को डिलीवर करते हैं.

पेमेंट कैसे आता है

अमेज़न पर सेलर रजिस्ट्रेशन करते समय जो आपने बैंक अकाउंट रजिस्टर किया होता है, उस बैंक अकाउंट में आपका पेमेंट 15 दिनों के अंदर अंदर ट्रान्सफर हो जाता है.

Return और रिफंड

जैसे आपको पता ही है कि ऑनलाइन शॉपिंग में प्रोडक्ट को लोग वापिस भी करते हैं और उनका रिफंड भी करना होता है. लेकिन कई बार वापिस किया हुआ प्रोडक्ट या तो बदल दिया गया होता है और या तो खराब होता है.

तो खराब या फेक प्रोडक्ट के लिए आप अमेज़न की सेलर सपोर्ट को संपर्क करके क्लेम भी कर सकते हो. इसके लिए आप अपने सेलर अकाउंट के डैशबोर्ड पर जाईये, वहां आपको Help का आप्शन मिलेगा, वहां से आप अमेज़न सेलर सपोर्ट को संपर्क कर सकते हैं.

अमेज़न ऑनलाइन बिज़नेस

FAQ’s

Q. क्या अमेज़न सेलर बनने के लिए और GST नंबर लेने के लिए खुद की कंपनी होना ज़रुरी है?
Ans. जी नहीं, अमेज़न सेलर बनने की लिए आपकी कम्पनी होना जरूरी नहीं और ना ही GST नंबर लेने के लिए. GST आप घर से भी रजिस्टर कर सकते हैं.

Q. अगर कुछ दिनों के लिए छुट्टी पर जाना हो तो अमेज़न को कैसे बताएं?
Ans.
अगर आप कुछ दिन छुट्टी लेना चाहते हैं तो अपने अकाउंट पर vacation mode एक्टिव कर सकते हैं.

Q. क्या ब्रांडेड प्रोडक्ट को GTIN लेकर किसी और नाम पर sell कर सकते हैं?
Ans. बिलकुल नहीं, ब्रांडेड प्रोडक्ट्स आप अपने नाम पर sell नहीं कर सकते, अगर आप ऐसा करते हैं तो कंपनी आप पर copyright claim डाल देंगे आयर आपका सेलर अकाउंट भी बंद हो सकता है.

निष्कर्ष: 

तो दोस्तो आज आपने हमारी पोस्ट “amazon seller kaise bane” के माध्यम से जाना कि अमेज़न पर सेलर बनने के लिए क्या-क्या करना पड़ता है. इस तरह आप अमेज़न के सेलर बन के अपने बिज़नेस को बढ़ा सकते हो और आपको बहुत कुछ नई चीजें सीखने को भी मिलेंगी. अगर आप ऊपर बताई बातों का ध्यान रखोगे तो आपको रजिस्ट्रेशन करने में कोई भी मुश्किल नहीं आएगी.

हमें उम्मीद है आपको हमारे इस आर्टिकल amazon seller kaise bane से आपकी बहुत मदद हुई होगी, तो अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो कमेंट करके ज़रूर बताएं, धन्यवाद!!

         

यह भी पढ़ें:

6 thoughts on “Amazon Seller Kaise Bane | Amazon पर सामान कैसे बेचें?”

Leave a Comment

%d bloggers like this: